Rootkit Virus Kya Hai

Rootkit Virus Kya Hai? रूटकिट वायरस क्या है | Rootkit Virus के उदाहरण

Rate this post

Rootkit Virus Kya Hai – दोस्तों आज की इस नयी लेख में आपको कंप्यूटर वायरस के एक सबसे बड़े प्रकार रूटकिट वायरस के बारे में जैसे रूटकिट वायरस क्या है, रूटकिट वायरस के उदाहरण क्या है और रूटकिट वायरस के कितने प्रकार होते हैं इन सब सवालों के जवाब इस लेख में आपको विस्तार में पढ़ने को मिलेंगे तो अगर आप भी कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं और कंप्यूटर के बारे में जानकारी जानने में रुचि रखते हैं तो यह लेख आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाली है।

Rootkit Virus एक एक प्रकार का Computer Virus है और रूटकिट वायरस को Malware यह टाइप का वायरस है जिसे हैकर को लक्षित डिवाइसेज तक पहुंचने और उस कंप्यूटर पर अटैक करने के लिए डिजाइन किया जाता है। ज्यादातर केसेस में यह वायरस कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर और ऑपरेटिंग सिस्टम को प्रभावित करते हैं और कुछ केसेस में हमें कंप्यूटर के हार्डवेयर और फर्मवेयर को भी अटैक करते हुए पाया गया है।

रूटकिट वायरस एक खतरनाक कंप्यूटर वायरस है जो उपयोगकर्ता के सिस्टम को अनदेखा रखने के लिए बनाया जाता है। इस वायरस का उद्देश्य उपयोगकर्ता के सिस्टम में एक सुपरवाइज़र या रूट लॉगिन तक पहुंचने की अनुमति देना होता है। रूटकिट वायरस का नाम इसलिए है क्योंकि यह उपयोगकर्ता के सिस्टम में “रूट” या एडमिनिस्ट्रेटर के स्तर के अधिकारों तक पहुंचने की अनुमति देता है।

यह वायरस गुप्त रूप से सिस्टम में रहकर उपयोगकर्ता के गोपनीय डेटा, व्यक्तिगत फ़ाइलें, और सांख्यिकीय जानकारी को संकट में डाल सकता है। रूटकिट वायरस का उपयोग अपराधियों द्वारा बैंकिंग जानकारी और विशेषज्ञता को चुराने में भी होता है। इसलिए, उपयोगकर्ताओं को नियमित अद्यतन एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर का उपयोग करने के लिए सावधान रहना आवश्यक है। चलिए अब हम आपको इसलिए की शुरुआत करते हैं और जानते हैं कि Rootkit Virus Kya Hai और इसके उदाहरण क्या है?

Contents

Rootkit Virus Kya Hai? रूटकिट वायरस क्या है?

Rootkit Virus Kya Hai? इसके बारे में जानना है तू हम आपको बता देगी Rootkit Virus एक तरह का Malware Virus है, जो कि रूटकिट मालीशियस कोड के द्वारा साइबर अटैक करने के लिए बनाया जाता है। इस वायरस को हम Windows और Mac iOS में दोनों ही सिस्टम में Illegal रूटकिट के माध्यम से इंस्टॉल कर सकते हैं। यह रूटकिट वायरस संक्रमित सिस्टम के द्वारा आसानी से एक्सेस पाकर कंप्यूटर के किसी भी प्रोग्राम या फंक्शन को परिवर्तन कर सकता है। जिसे हम बाद में आसानी से किसी भी अच्छे एंटीवायरस सॉफ्टवेयर के रूटकिट स्कैनर के द्वारा हटाया जा सकता है।

रूटकिट वायरस इस प्रकार के कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का संग्रह है, जिसे वर्तमान समय में हम गलत उद्देश्यों को पूरा करने के लिए इस्तेमाल करते हैं। इस वायरस को इस तरीके से बनाया जाता है यह कंप्यूटर और कंप्यूटर के उस क्षेत्र में भी ऐसे जगह पर भी कार्य करता है, अनुमति नहीं दी जाती है जिस जगह पर सॉफ्टवेयर को चलाने की अनुमति नहीं दी जाती है। जिसकी वजह से अटैकर्स बड़ी ही आसानी से फंडामेंटली किसी भी प्रोग्राम यह फंक्शन को मॉडिफाई या फिर डिसएबल कर सकते हैं।

रूटकिट वायरस एक खतरनाक ऑनलाइन सुरक्षा समस्या है जो कंप्यूटर और नेटवर्क पर असर करती है। यह वायरस कंप्यूटर या नेटवर्क में उपलब्ध सिक्योरिटी गवाहों का उपयोग करके अपने आप को छिपाने और अन्य मुख्य वायरस अथवा मैलवेयर को सक्रिय करने के लिए अनुमति देता है। इस वायरस का नाम उसके द्वारा सभी सिस्टम वायरस को कंट्रोल करने के लिए उपयोग किए जाने वाले उपकरण रूटकिट से आया है।

इसके द्वारा बदमाश अनुप्रयोगों को सुसंगत प्रवेश मिलता है, जिससे वे व्यक्तिगत डेटा, पासवर्ड, बैंक खाता जानकारी, या अन्य महत्वपूर्ण जानकारी चुरा सकते हैं। रूटकिट वायरस को रोकने के लिए, उपयुक्त एंटीवायरस सॉफ्टवेयर और सुरक्षा उपायों का उपयोग करना अत्यंत आवश्यक है। सतत अपडेट और जागरूकता रखने से भी यह खतरा कम किया जा सकता है।

रूटकिट वायरस (Rootkit Virus) का उपयोग क्यों किया जाता है?

Rootkit Virus Kya Hai जानने के अब हम आपको रूटकिट वायरस का उपयोग कंप्यूटर और नेटवर्क के अनुप्रयोगों में गैरकानूनी रूप से किया जाता है। इसका प्रमुख उद्देश्य उपयोगकर्ताओं को अनदेखा करके अपने विनाशकारी उद्देश्यों को पूरा करना होता है। कुछ मुख्य कारण निम्नलिखित हैं:

सांदर्भिक जासूसी:

रूटकिट वायरस अपने आप को छिपाने की शक्ति रखता है और विक्रेता को उपयोगकर्ताओं की गतिविधियों और जानकारी का अनुसरण करने की अनुमति देता है।

निजी जानकारी की चोरी:

रूटकिट वायरस उपयोगकर्ताओं के निजी डेटा, पासवर्ड, बैंक खाता जानकारी और अन्य संबंधित जानकारी को चोरी कर सकता है।

मेलवेयर का छिपाव:

रूटकिट वायरस मेलवेयर अनुप्रयोगों को अपने आप को गोपनीय रूप से संलग्न करके अपने सदस्यों को छिपा सकता है, जिससे विक्रेता के बनाए गए नुकसानकारी उद्देश्य पूरे हो सकते हैं।

अवैध उपयोग:

रूटकिट वायरस का उपयोग व्यक्तिगत या सांगठिक नुकसान, नाजायज लाभ, अवैध वसूली, आतंकवादी गतिविधियों, या दूसरे दुश्मनाना कारणों के लिए किया जा सकता है।

रूटकिट वायरस एक विकट ऑनलाइन सुरक्षा समस्या है, जिसके खिलाफ सावधानी बरतना और उचित सुरक्षा उपायों का उपयोग करके इसके प्रभावों से बचना महत्वपूर्ण है।

रूटकिट वायरस के प्रकार – Types Of Rootkit Virus In Hindi

जैसा की आपको अब पता चल गया है की Rootkit Virus Kya Hai तो चलिए अब हम आपको रूटकिट वायरस विभिन्न प्रकारों में उपलब्ध होते हैं, जो कंप्यूटर और नेटवर्क को अलग-अलग तरीकों से आक्रमण करते हैं। निम्नलिखित हैं कुछ प्रमुख रूटकिट वायरस के प्रकार:

User-Mode Rootkit (यूजरमोड रूटकिट):

“यूजरमोड रूटकिट” एक प्रकार का रूटकिट वायरस है जो कंप्यूटर में उपयोगकर्ता (यूजर) मोड में सक्रिय होता है। यह वायरस कंप्यूटर अनुप्रयोगों और ऑपरेटिंग सिस्टम के स्तर पर काम करता है और उपयोगकर्ता की गतिविधियों को निगरानी करता है।

यूजरमोड में, उपयोगकर्ता अपने कंप्यूटर पर विभिन्न सामान्य कार्यों को करते हैं जैसे वेब ब्राउज़िंग, ईमेल, दस्तावेज़ बनाना, और अन्य आम कार्य। यूजरमोड रूटकिट इस समय काम करते हुए उपयोगकर्ता की गतिविधियों को गोपनीय रूप से निगरानी करता है और उपयोगकर्ता के द्वारा किए गए कार्यों को अनुसरण करता है।

इस प्रकार के रूटकिट वायरस का उपयोग यूजर की जानकारी की चोरी, अनधिकृत गतिविधियों को निगरानी करने, और अनुप्रयोगों में खातरनाक बदलाव करने के लिए किया जाता है। यूजरमोड रूटकिट से उपयुक्त सुरक्षा उपायों का उपयोग करके इसके प्रभावों से बचा जा सकता है जैसे कि अच्छे एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर का उपयोग, ताज़ा सॉफ़्टवेयर के इस्तेमाल, और अनधिकृत साइटों से सतर्क रहना।

Kernel Mode Rootkit (कर्नलमोड रूटकिट):

कर्नलमोड रूटकिट वायरस एक खतरनाक प्रकार का रूटकिट है जो कंप्यूटर या नेटवर्क के कर्नल (नियंत्रक) स्तर में सक्रिय होता है। कर्नल वायरस का यह मतलब होता है कि यह सिस्टम के सबसे गहन और महत्वपूर्ण भाग में स्थानीय होता है, जिससे इसे पकड़ना और नष्ट करना आमतौर पर आसान नहीं होता है।

कर्नलमोड रूटकिट वायरस की एक मुख्य उपेक्षा यह होती है कि यह सिस्टम और उपयोगकर्ता लेवल के सुरक्षा मेकेनिज़्म को छलने में सक्षम होता है। यह उपयोगकर्ता की गतिविधियों को गोपनीय रूप से निगरानी कर सकता है और अनधिकृत रूप से प्रभावित कर सकता है।

कर्नलमोड रूटकिट वायरस विशेष रूप से अधिकांश विंडोज और यूनिक्स आधारित सिस्टमों पर पाया जाता है। यह वायरस अपने आप को कंप्यूटर के अन्दर छिपा सकता है और विक्रेता को उपयोगकर्ता के बिना उसके सिस्टम का पूर्ण नियंत्रण हासिल करने की अनुमति देता है।

Application Rootkit (एप्लीकेशन रूटकिट):

“एप्लिकेशन रूटकिट” एक प्रकार का रूटकिट वायरस है जो कंप्यूटर या उपकरण में इंस्टॉल किए गए एप्लिकेशनों में छिप जाता है। यह वायरस विशेष रूप से सॉफ़्टवेयर और अनुप्रयोगों को आक्रमण करता है और उन्हें नकारात्मक तरीके से प्रभावित करता है।

एप्लिकेशन रूटकिट के द्वारा, वायरस विक्रेता उपयोगकर्ता के उपकरण में स्थापित अनुप्रयोगों के अंदर अपने खतरनाक एनक्रिप्टेड कोड को छिपा सकता है। इसके बाद वायरस अपने आप को निगरानी और नियंत्रण करने की क्षमता बनाता है जिससे विक्रेता उपयोगकर्ता के डेटा और गतिविधियों को चुरा सकता है।

एप्लिकेशन रूटकिट विशेष रूप से मोबाइल डिवाइस्स, टैबलेट्स, और स्मार्टफोन्स में पाया जाता है। यह रूटकिट वायरस अनधिकृत स्रोतों से आए अनुप्रयोगों द्वारा उपयोगकर्ता के उपकरण में प्रवेश करता है और उपयोगकर्ता की जानकारी चोरी करता है।

Bootloader Rootkit Or Bootkit (बूटकिट):

बूटलोडर रूटकिट या बूटकिट एक विशेष प्रकार का रूटकिट वायरस है जो कंप्यूटर के बूटलोडर में स्थापित होता है। यह वायरस कंप्यूटर को बूट करते समय आरंभ में सक्रिय होता है और सिस्टम के बूटलोडर को अधिकृत बूट सेक्टर से प्रभावित करके स्थापित हो जाता है।

बूटकिट का उद्देश्य यह होता है कि वायरस विक्रेता सिस्टम को बूट करते ही उसके नियंत्रण को प्राप्त कर सके। यह वायरस अनधिकृत स्रोतों से सिस्टम में प्रवेश करता है और सिस्टम के अधिकृत बूटलोडर को प्रत्यारोपित करता है जिससे विक्रेता को सिस्टम का पूर्ण नियंत्रण मिलता है।

बूटकिट के द्वारा, विक्रेता उपयोगकर्ता के सिस्टम में छिपे हुए रूप से स्थापित अनुप्रयोगों को नियंत्रित कर सकता है और उपयोगकर्ता की गतिविधियों को निगरानी कर सकता है। इसके द्वारा विक्रेता उपयोगकर्ता की निजी जानकारी चोरी कर सकता है और विक्रेता के द्वारा अनधिकृत कारणों के लिए सिस्टम को इस्तेमाल कर सकता है।

Windows Rootkit (वींडोज रूटकिट):

विंडोज रूटकिट एक विशेष प्रकार का रूटकिट वायरस है जो माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित कंप्यूटर में प्रवेश करता है। यह वायरस विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रोसेसेस और सेवाओं को गुमराह करने के लिए उपयोग किया जाता है।

विंडोज रूटकिट का उद्देश्य यह होता है कि विक्रेता उपयोगकर्ता के उपकरण में अपने खतरनाक एनक्रिप्टेड कोड को छिपा सके और उपयोगकर्ता के उपकरण को नियंत्रित कर सके। इसके द्वारा विक्रेता उपयोगकर्ता की गतिविधियों को गोपनीय रूप से निगरानी करता है और उपयोगकर्ता की जानकारी चोरी कर सकता है।

विंडोज रूटकिट वायरस के द्वारा विक्रेता सिस्टम में छिपे हुए रूप से स्थापित अनुप्रयोगों को नियंत्रित कर सकता है और उपयोगकर्ता के बिना उसके सिस्टम का पूर्ण नियंत्रण हासिल कर सकता है।

रूटकिट हमले के संभावित संकेत

Rootkit Virus Kya Hai के जानने के बाद अगर आपको अपने कंप्यूटर में रूटकिट हमले का पता लगाना चुनौतीपूर्ण हो सकता है क्योंकि रूटकिट विशेष रूप से छिपे रहने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। हालाँकि, कई संकेत संकेत दे सकते हैं कि रूटकिट ने आपके सिस्टम को संक्रमित कर दिया है:

प्रदर्शन संबंधी समस्याएं:

रूटकिट सिस्टम संसाधनों का उपभोग कर सकते हैं, जिससे प्रदर्शन में उल्लेखनीय कमी आ सकती है। सुस्ती, धीमा स्टार्टअप और शटडाउन समय, और अनुत्तरदायीता रूटकिट संक्रमण का संकेत दे सकती है।

अप्रत्याशित सिस्टम व्यवहार:

यदि आपका सिस्टम अजीब व्यवहार करना शुरू कर देता है, जैसे बार-बार क्रैश होना, अप्रत्याशित त्रुटि संदेश, या असामान्य सिस्टम पुनरारंभ, तो यह रूटकिट हमले का संकेत हो सकता है। रूटकिट सिस्टम प्रक्रियाओं में हस्तक्षेप कर सकते हैं, जिससे अस्थिर व्यवहार हो सकता है।

असामान्य नेटवर्क ट्रैफ़िक:

रूटकिट्स अनधिकृत नेटवर्क कनेक्शन स्थापित कर सकते हैं या नेटवर्क ट्रैफ़िक में हेरफेर कर सकते हैं। यदि आपका सिस्टम निष्क्रिय होने या अस्पष्ट आउटगोइंग कनेक्शन होने पर आप अत्यधिक नेटवर्क गतिविधि देखते हैं, तो यह रूटकिट का संकेत दे सकता है।

अक्षम या ख़राब सुरक्षा सॉफ़्टवेयर:

रूटकिट अक्सर सिस्टम के सुरक्षा उपायों को अक्षम या बायपास करने का प्रयास करते हैं। यदि आपका एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर, फ़ायरवॉल, या अन्य सुरक्षा उपकरण बिना किसी स्पष्ट कारण के काम करना बंद कर देते हैं या असामान्य व्यवहार करते हैं, तो यह रूटकिट के कारण हो सकता है।

छिपी हुई फ़ाइलें या प्रक्रियाएँ:

रूटकिट अपनी उपस्थिति को छुपाने के लिए तकनीकों का उपयोग करते हैं। छिपी हुई फ़ाइलों, निर्देशिकाओं या प्रक्रियाओं की तलाश करें जो सामान्य रूप से दिखाई नहीं देती हैं या संदिग्ध रूप से नामित फ़ाइलें जिन्हें आप नहीं पहचानते हैं। असामान्य सिस्टम फ़ाइलें या प्रक्रियाएँ रूटकिट हमले का परिणाम हो सकती हैं।

अप्रत्याशित सिस्टम संशोधन:

रूटकिट निरंतरता बनाए रखने या अपनी गतिविधियों को छिपाने के लिए सिस्टम फ़ाइलों, कॉन्फ़िगरेशन या रजिस्ट्री प्रविष्टियों को बदल सकते हैं। सिस्टम सेटिंग्स में अनधिकृत परिवर्तनों, रजिस्ट्री में असामान्य प्रविष्टियों, या संशोधित सिस्टम फ़ाइलों पर नज़र रखें।

एंटीवायरस अलर्ट या अपडेट करने में असमर्थता:

कुछ एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर रूटकिट गतिविधि का पता लगा सकते हैं और अलर्ट बढ़ा सकते हैं। यदि आपका एंटीवायरस बार-बार एक ही रूटकिट-संबंधित फ़ाइलों का पता लगाता है और हटा देता है या यदि आप अपने एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर को अपडेट करने में असमर्थ हैं, तो यह लगातार रूटकिट संक्रमण का संकेत दे सकता है।

रूटकिट वायरस कंप्यूटर से कैसे रिमोव करें? 

अभी हमने आपको Rootkit Virus Kya Hai के बारे में बताया तो यदि आपको रूटकिट हमले का संदेह है, तो तत्काल कार्रवाई करना महत्वपूर्ण है। रूटकिट को हटाने और आपके सिस्टम को हुए किसी भी नुकसान की मरम्मत शुरू करने के लिए यहां कुछ सामान्य कदम दिए गए हैं:

अपना सुरक्षा सॉफ़्टवेयर अपडेट करें:

सुनिश्चित करें कि आपका एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर और अन्य सुरक्षा उपकरण चालू हैं। इससे रूटकिट का पता लगाने और उसे हटाने की संभावना बढ़ जाएगी।

सुरक्षित मोड में बूट करें:

अपने कंप्यूटर को पुनरारंभ करें और सुरक्षित मोड में प्रवेश करें। यह स्टार्टअप के दौरान रूटकिट को लोड होने से रोकने में मदद करता है, जिससे इसे हटाना आसान हो जाता है। सुरक्षित मोड तक पहुंचने के लिए, आपको बूट प्रक्रिया के दौरान एक विशिष्ट कुंजी (जैसे F8 या Shift) दबानी होगी।

पूर्ण सिस्टम स्कैन करें:

अपने एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर या विशेष एंटी-रूटकिट टूल का उपयोग करके एक व्यापक स्कैन चलाएं। ये उपकरण विशेष रूप से रूटकिट का पता लगाने और हटाने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। अपने सिस्टम से मैलवेयर और संक्रमित फ़ाइलों का आसानी से और शीघ्रता से पता लगाने और उन्हें हटाने के लिए नॉर्टन पावर इरेज़र को निःशुल्क आज़माएं।

ऑफ़लाइन स्कैनर का उपयोग करें:

यदि रूटकिट विशेष रूप से जिद्दी है या आपका नियमित एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर इसका पता लगाने में विफल रहता है, तो आप ऑफ़लाइन स्कैनर आज़मा सकते हैं। ये एंटीवायरस उपकरण बूट करने योग्य यूएसबी या सीडी/डीवीडी से चलते हैं, जिससे वे रूटकिट सक्रिय हुए बिना आपके सिस्टम को स्कैन कर सकते हैं।

पहचाने गए खतरों को हटाएँ:

यदि आपका सुरक्षा सॉफ़्टवेयर किसी रूटकिट-संबंधित फ़ाइलों या प्रक्रियाओं की पहचान करता है, तो उन्हें हटाने या संगरोध करने के लिए दिए गए निर्देशों का पालन करें। सावधान रहें और दोबारा जाँच लें कि आप सही फ़ाइलें हटा रहे हैं, क्योंकि महत्वपूर्ण सिस्टम फ़ाइलें हटाने से और समस्याएँ हो सकती हैं।

सिस्टम फ़ाइलों की मरम्मत करें:

रूटकिट सिस्टम फ़ाइलों या कॉन्फ़िगरेशन को संशोधित कर सकते हैं। किसी भी भ्रष्ट या संशोधित सिस्टम फाइल को स्कैन और सुधारने के लिए विंडोज सिस्टम फाइल चेकर (एसएफसी) या डिप्लॉयमेंट इमेज सर्विसिंग एंड मैनेजमेंट (डीआईएसएम) जैसे सिस्टम रिपेयर टूल का उपयोग करें।

सिस्टम व्यवहार की निगरानी करें:

रूटकिट को हटाने के बाद, किसी भी असामान्य गतिविधियों, प्रदर्शन समस्याओं या पुन: संक्रमण के संकेतों के लिए अपने सिस्टम की बारीकी से निगरानी करें। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपका सिस्टम साफ़ रहे, अद्यतन सुरक्षा सॉफ़्टवेयर के साथ नियमित स्कैन चलाएँ।

रूटकिट (Rootkit Virus) वायरस के लक्षण क्या है?

रूटकिट वायरस के लक्षण अलग-अलग प्रकार के वायरसों के आधार पर भिन्न हो सकते हैं, लेकिन कुछ आम लक्षण निम्नलिखित हैं:

सिस्टम में गोपनीयता की खोई जानकारी:

रूटकिट वायरस उपयोगकर्ता की गतिविधियों और जानकारी को गोपनीय रूप से निगरानी करते हैं। उपयोगकर्ता को अपने उपकरण के साथ संबंधित संदेहजनक गतिविधियों के बारे में पता नहीं चलता है।

सिस्टम के लिए स्थायी इंस्टॉलेशन:

रूटकिट वायरस अपने आप को सिस्टम में स्थायी रूप से स्थापित करते हैं ताकि वे वायरस को हटाने के लिए उपयोगकर्ता को बहुत मुश्किलाहट का सामना करना पड़ता है।

सिस्टम के अनुप्रयोगों में अद्यतित बदलाव:

रूटकिट वायरस सिस्टम के अनुप्रयोगों में बिना अनुमति के बदलाव कर सकते हैं और विक्रेता को नियंत्रण प्राप्त करने में मदद करते हैं।

असामान्य नेटवर्क गतिविधियां:

रूटकिट वायरस नेटवर्क के स्तर पर असामान्य गतिविधियों को उत्पन्न कर सकते हैं, जैसे कि अनधिकृत डेटा ट्रांसमिशन, नियंत्रणहीन पोर्टों के उपयोग, और डेटा के आधार पर गतिविधियों की निगरानी।

बूटलोडर में परिवर्तन:

बूटलोडर रूटकिट वायरस विक्रेता को सिस्टम बूट होते समय उसे नियंत्रण करने में मदद करता है और इससे सिस्टम को पूर्ण नियंत्रण प्राप्त होता है।

यदि आपको लगता है कि आपके सिस्टम में रूटकिट वायरस हो सकता है, तो तुरंत एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर का उपयोग करें और सिस्टम को स्कैन करने के लिए नेटवर्क के लिए प्रोफेशनल की सलाह लें।

रूटकिट वायरस के खिलाफ सुरक्षा के उपाय

  • सदस्यता एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर का उपयोग करें।
  • सिस्टम को नियमित रूप से अद्यतन करें।
  • ईमेल अटैचमेंट्स और अनजान लिंक्स से सतर्क रहें।
  • सिस्टम की निगरानी के लिए इंट्रूजन डिटेक्शन सिस्टम इस्तेमाल करें।

Rootkit Virus के उदाहरण

रूटकिट वायरस कई प्रकार के उदाहरणों के साथ आता है, जो कंप्यूटर और नेटवर्क सिस्टम को अधिकतम संक्रमित कर सकते हैं। यहां कुछ प्रसिद्ध रूटकिट वायरस उदाहरण हैं:

सांसद (Stuxnet):

सांसद वायरस एक प्रसिद्ध रूटकिट है जो 2010 में खुलासा हुआ था। यह ईरान के नाभिकीय संयंत्रों को नुकसान पहुंचाने के लिए इस्तेमाल किया गया था। यह वायरस कंप्यूटर के कर्णल में परिवर्तन करता है और सिस्टम के नियंत्रण को अधिग्रहण करता है।

Zeus:

Zeus एक और प्रसिद्ध रूटकिट वायरस है जो बैंकिंग जानकारी को चुराने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह वायरस उपयोगकर्ता के कंप्यूटर को संक्रमित करके पासवर्ड और विवरण चोरी करता है।

Dark Tequila:

यह एक बड़ा और जांच के लिए मुश्किल रूटकिट वायरस है, जो अपने शिकारों को लूटने के लिए बनाया गया था। यह वायरस नाभिकीय संसाधनों को भी लक्ष्य बनाता है और इसके संक्रमित होने पर उपयोगकर्ता के सभी गोपनीय जानकारी को चुरा लेता है।

Rootkit Hackers:

रूटकिट हैकर्स एक अपराधी समूह है जिसने विश्वभर में कई संगठनों को निशाना बनाया है। इन्होंने बैंकों, सरकारी संस्थानों और बड़ी कंपनियों को लक्ष्य बनाया है और उनके सिस्टमों में रूटकिट वायरस का उपयोग किया है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

Que: रूटकिट वायरस क्या है?

Ans: रूटकिट वायरस एक प्रकार का खतरनाक कंप्यूटर वायरस है जो उपयोगकर्ता के सिस्टम में एक सुपरवाइज़र/रूट लॉगिन तक पहुंचने की अनुमति देता है।

Que: रूटकिट वायरस का उपयोग क्यों किया जाता है?

Ans: रूटकिट वायरस का प्रधान उद्देश्य उपयोगकर्ता के सिस्टम में गुप्त रूप से रहना और उपयोगकर्ता के द्वारा अनदेखा रहना होता है।

Que: रूटकिट वायरस के प्रकार क्या हैं?

Ans: रूटकिट वायरस के प्रमुख प्रकार बाइनरी रूटकिट, रूटकिट वायरस के ट्रूपर, और ड्रायवर रूटकिट हैं।

Que: रूटकिट वायरस से बचने के उपाय क्या हैं?

Ans: रूटकिट वायरस से बचने के लिए एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर का उपयोग करें, नियमित अद्यतन करें, और ईमेल अटैचमेंट्स और अनजान लिंक्स से सतर्क रहें।

Que: रूटकिट वायरस का उपयोग किसलिए किया जाता है?

Ans: रूटकिट वायरस का उपयोग उपयोगकर्ता के सिस्टम में अनधिकृत रूप से पहुंचकर उसके गोपनीय डेटा को चुराने के लिए किया जाता है।

इन सब को भी पढ़ें:

Share It

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top