Republic Day 2023: 26 जनवरी को रिपब्लिक डे क्यों मनाया जाता है? 26 January Ko Republic Day Kyu Manaya Jata Hai

Rate this post

Republic Day 2023 : हेलो दोस्तों, जैसा के आप सभी को पता है अब से कुछ ही दिन बाद हमारे भारत देश में हर साल 26 जनवरी को रिपब्लिक डे मनाया जाता है मगर क्या आपको पता है की आखिर भारत में 26 जनवरी को रिपब्लिक डे क्यों मनाया जाता है (26 January ko Republic Day Kyu Manaya Jata Hai) अगर नहीं तो आज हम आपको इसके पीछे की पूरी कहानी इस लेख में बताने वाले है तो अगर आपको भी नहीं पता है तो इस लेख को पूरा आखिर तक ज़रूर पढ़ें।

भारत देश के राष्ट्रीय त्योहारो में से एक गणतंत्र दिवस के दिन को भी भारत के देशवासी स्वतंत्र सेनानी व वीर योद्धाओ को याद करते है। हर साल इस समय भारत के राष्ट्रपति ट्रिंग झंडा फहराते है और 21 तोपों की सलामी दी जाती है। हर साल 26 जनवरी को भारत में गणतंत्र दिवस (Republic Day) बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है मगर क्या आप ने कभी सोचा है की हमारे देश में हर सा इतनी धूम धाम से गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है।

अब आप कहर रहे होंगे इसमें कौनसी बड़ी बात है ये तो सब को पता है की गणतंत्र दिवस इसलिए 26 जनवरी को मनाया जाता है क्यूंकि इस दिन हमारे भारत का संविधान पुरे देश में लगो किया गया था। आप की बात भी सही है मगर यह पूरी सही नहीं है क्यूंकि आपको ये नहीं पता है की 26 जनवरी के दिन ही संविधान को क्यों पुरे देश में लगो किया गया था इसके पीछे भी बहुत सारे कारण है जिसके बारे में आज हम आपको इस लेख में बताने वाले है की आखिर 26 जनवरी को रिपब्लिक डे क्यों मनाया जाता है (26 January Ko Republic Day Kyu Manaya Jata Hai) | तो चलिए ज़्यादा देर न करते हुए इस लेख को शुरू करते है।

Republic Day 2023

भारत के हर एक देशवासी को हर साल इस दिन का इंतज़ार होता है और इस दिन 26 जनवरी को पुरे जोश के साथ गणतंत्र दिवस मनाता है। और साल 2023 में भी भारत देश पुरे जश्न के साथ रिपब्लिक डे मनाया जायेगा। इस साल भारत देश अपना 74वां गणतंत्र दिवस (Republic Day) मानाने वाला है। इस ख़ास मौके पर हर इंडिया गेट से लेकर राष्ट्रपति भवन तक राजपथ पर भव्य परेड का आयोजन किया जाता है।

इस गणतंत्र दिवस की परेड में भारत की सेना, वायुसेना, नौसेना आदि की विभिन्न रेजिमेंट हिंसा लेती है। ये सब टीवी पर देखने के बाद शायद आपके मन ये सवाल आता होगा की आखिर हम गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को ही क्यों मनाते है, किसी दूसरे दिन क्यों नहीं मनाते है। इसकी पीछे की कहानी बहुत ही रोचक है और क्या आप ये जानते है की आज़ादी से पहले देश में सवतंत्र दिवस किसी और दिन मनाया जाता था। तो चलिए अब हम आपके इस सवाल का जवाब देते है।

26 जनवरी को रिपब्लिक डे क्यों मनाया जाता है?

26 January Ko Republic Day Kyu Manaya Jata Hai चलिए अब हम इस सवाल का जवाब जानने की कोशिश करते है। सन 1948 के आरंभ में ही डॉ. बी. आर आंबेडकर ने संविधान की रूपरेखा प्रस्तुत कर दी थी। लेकिन बाद में इसमें कुछ संसोधन करने के बाद नवंबर 1949 फिर इसे एक्सेप्ट कर लिया गया था जिसके बाद 26 जनवरी 1950 को पुरे देश लागू कर दिया गया था। तब से हर साल इस दिन हम भारत में गणतंत्र दिवस मनाते है

डॉ. बी. आर आंबेडकर जवाहरलाल नेहरू, डॉ राजेंद्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलम आज़ाद ये सब उस समय संविधान सभा के प्रमुख्य सदस्य थे। संविधान बनाने के लिए कुल 22 समितियां थी जिसमे से एक समिति जिसका नाम ड्राफ्टिंग कमिटी है ये सबसे प्रमुख्य और महत्वपूर्ण समिति थी और इस समिति का काम डटिल में संविधान लिखना और इसे लागू करना था।

ड्राफ्टिंग कमिटी के अध्यक्ष और कोई नहीं डॉ. भीमराव आंबेडकर थे। ड्राफ्टिंग कमिटी और डॉ, बी आर आंबेडकर ने मिलकर तकरीबन 2 साल, 11 महीने और 18 दिन में भारतीय संविधान का निर्माण किया था। जिसके बाद संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. राजिंद्र प्रसाद को 26 नवंबर 1949 को भारत का संविधान सुपुर्द किया गया था।

26 नवंबर 1949 को संविधान के कुछ बहुत महत्वपूर्ण पोरशन को लागू कर दिया गया था। लेकिन पूरा संविधान 26 जनवरी 1950 को भारत में लागू किया गया था। और 26 जनवरी को चुनने की मुख्या कारण लाहौर कांग्रेस अधिवेशन है। इसी दिन यानि 26 जनवरी 1929 को कांग्रेस के द्वारा लाहौर सेशन में पूर्ण सवराजय का प्रस्ताव पेश किया गया था और तब से ही इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में भारत में इसे मनाया जाता है।

आज अपने क्या जाना

दोस्तों आज हमने आपको इस लेख में 26 जनवरी को रिपब्लिक डे क्यों मनाया जाता है (26 January Ko Republic Day Kyu Manaya Jata Hai) इसके बारे में विस्तार में जानकारी देने की कोशिश की है मुझे उम्मीद है की आपको इस लेख में कुछ नया जानने को मिले होगा और आपको ये लेख पसंद आयी होगी तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों में भी शेयर करके उनकी ज्ञान बढ़ाये। अगर आपको इस लेख के बारे में हमसे कुछ सवाल करना है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है।

इन सब को भी पढ़ें:

Share It

Leave a Comment